छत्तीसगढ़राष्ट्रीय

तीजन बाई बनी छत्तीसगढ़ की पहली पद्म विभूषण पुरस्कार सम्मान पाने वालीं हस्ती

शनिवार को राष्ट्रपति भवन में पद्म पुरस्कार वितरण समारोह आयोजन किया गया था जिसमे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के द्वारा पद्म विभूषण, पद्म भूषण तथा पद्मश्री पुरस्कारों वितरण का किया गया.

पद्म पुरूस्कार पाने वालों में सभी अलग अलग क्षेत्र की हस्तियां शामिल थी, जिसमे खेल, साहित्य, कला, जैसे विभिन्न क्षेत्र शामिल है.

इसी कडी में छत्तीसगढ़ के लोगो की निगाहें छत्तीसगढ़ लोक गायिका तीजन बाई पर थी, जिन्हें पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया है.

तीजन बाई छत्तीसगढ़ की पहली हस्ती बन गयीं है जिन्हें पद्म विभूषण सम्मान प्राप्त है. इससे पहले 1987 में उन्हें पद्मश्री तथा 2003 में पद्मभूषण से सम्मानित किया जा चुका है.

बता दें की तीजन बाई छत्तीसगढ़ लोक गीत पंडवानी की गायिका है, उन्होंने अपने कला का परचम पूरे भारत में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी लहराया है.

छत्तीसगढ़ के गाँव गनियारी से निकलकर पंडवानी गायन की कला को विदेशों तक तक ले जाने में तीजन बाई का बहुत बड़ा योगदान है जो की अतुलनीय है.

पद्म सम्मान की सूचि में ये है कुछ और नाम:

पद्मश्री-
1976- पं मुकुटधर पाण्डेय
1983- श्री हबीब तनवीर
1987- तीजन बाई
1989- श्रीमती राजमोहनी देवी
1992- श्री धरमपाल शैनी
2004- डॉ अरुण त्रयम्बक दाबके
2005- श्री पुनाराम निषाद, सुश्री मेहरुनिशा परवेज
2007- डॉ महादेव प्रसाद पाण्डेय
2008- श्री जॉन मार्टिन
2009- श्री गोविन्दराम निर्मलकर
2010- डॉ सुरेन्द्र दुबे
2011- डॉ पुखराज बाफना
2012- श्रीमती फुलबासन बाई यादव, श्रीमती शमशाद बेगम
2013- स्वामी जी. सी. डी. भारती
2014- श्री अनुज शर्मा
2015- श्रीमती सबा अंजुम, श्री शेखर सेन
2016- श्रीमती ममता चंद्राकर
2017- श्री अरुण शर्मा
2018- पं श्यामलाल चतुर्वेदी, श्री दामोदर गणेश बापट

पद्मभूषण-
2002- श्री हबीब तनवीर
2003- श्रीमती तीजन बाई
2011- श्री सत्यदेव दुबे

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *